Baat Nahi Karne ki Shayari in Hindi | बात नहीं करने की शायरी

क्या आपका कोई आपसे रूठा हुआ है और आपकी उससे बातचीत बंद है. यही वजह है की आप इस पोस्ट तक पहुंचे हैं तो आपको बता दूँ की यहाँ पर आपको Baat Nahi Karne ki Shayari in Hindi | बात नहीं करने की शायरी मिलेगी जिसके जरिये आप उन्हें मना सकते हैं.

अगर आप भी रूत हुए को मनाना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा तैयार किये इस कलेक्शन का उपयोग कर सकते हैं जहाँ हमने खुश करने की शायरी भी लिखी है. तो फिर देर किस बात की आप भी इस कलेक्शन में से कई सारी शायरी को चुने और उन्हें जरूर भेजे जो आपसे नाराज़ हैं और बात नहीं करते हैं.

Baat Nahi Karne ki Shayari in Hindi | बात नहीं करने की शायरी

बात नहीं करने की शायरी

तेरे लहजे में लाख मिठास सही मगर
मुझे जहर लगता है तेरा कहा गया हर लफ्ज़ मुझ से.

आँख से आँख मिल जाती है तो इश्क़ हो जाता है,
झुकी पालक से इज़हार हो जाता है
ना जाने क्या नशा है मोहब्बत में
के कोई अनजान भी आप के ज़िन्दगी का
हक़दार बन जाता है.

दिल में बसे हो जरा ख्याल रखना…
वक्त मिल जाए तो बात कर लेना…
हमें तो आदत है आपको याद करने की
आप को बुरा लगे तो माफ करना.

दिल के दरिया में धड़कन की कश्ती है,
ख़्वाबों की दुनिया में यादों की बस्ती है,
मोहब्बत के बाजार में चाहत का सौदा है,
वफ़ा की कीमत से तो बेवफाई सस्ती है।

आँख से आँख मिलाकर इश्क का
इजहार किया है,
बन कर ओस की बुँदे
जिन्दगी तेरी गुलजार करूँ गा,
संवर जाएगी तेरी मेरी जिन्दगी प्यार के राह में,
थाम ले तू हाथ मेरा, मैं तेरे हर साँस मे
खुशिया भर दूँ गा…

वो मुझसे ज्यादा चाहेगा ये
गुरूर भी टूट जाएगा,
मैं ज़रूर याद आऊंगा,
उस बेवफा को जब,
उसका साथ बेवजह उस से टूट जायेगा।

मोहब्बत में अक्सर ऐसा होता है;
लब तो हंसती हैं पर दिल तो रोता है;
मानते हो तुम जिसे मंजिल अपनी;..
हमसफर उनके जिंदगी के कोई और होता है…

कल तक हमसे बात किये बिना जिसे नींद तक नहीं आती थी
आज हमसे बात किये बिना दिन गुजर जाता है.

कुछ दिन बात ना करने से कोई बेगाना
नहीं होता कोई भी रिश्ता इतना पुराना
नहीं होता अपनों में गिले-शिकवे तो चलते
रहते हैं पर इसका मतलब अपनों को
भुलाना नहीं होता..

उनसे बात नहीं होती तो जिंदगी थम सी जाती है,
हर हँसी आँसू मे बदल जाती है…

सुना है वो जाते हुए कह गये, के अब
तो हम सिर्फ़ तुम्हारे ख्वाबो मे आएँगे,
कोई कह दे उनसे के वो वादा कर ले,
हम जिंदगी भर के लिए सो जाएँगे..

तरस रहे हैं हम उनकी बस एक आवाज सुनने के लिए,
पर वो तो जिद पर अड़े हुए हैं हमें बस रुलाने के लिए।

उसका कोई कसूर नहीं
उसे तो मुझसे रूठना ही था
दिल मेरा शीशे सा साफ़ था
और शीशे का अंजाम टूटना ही था.

Baat Nahi Karne ki Shayari in Hindi

उनसे मिलने को जो सोचों अब वो ज़माना नहीं,
घर भी कैसे जाऊं अब तो कोई बहाना नहीं,
मुझे याद रखना कहीं तुम भुला न देना,
माना के बरसों से तेरी गली में आना-जाना नहीं।

एक वक्त था जब बाते ही
खत्म नहीं होती थी,
हर पल उन का खयाल होता था,
आज सबकुछ खत्म हो गया
मगर बात ही नहीं होती.

मुझे तुमसे बात ही नहीं करनी
ऐसा कहकर वो call काट देते हैं
मैं मनाऊं उनको ऐसा सोचकर
मेरी कॉल का इंतजार हर पल करते हैं.

अगर हमसे बात नहीं करना चाहते तो सीधा-सीधा बता दो,
कम से कम इस दिल को इतना तो ना तोड़ो…

बोलने से तो हर बात समझ आती है,
मगर हम वो चाहते हैं जो बिना कुछ
कहे हमारी खामोशी को समझे…

दिल का हाल बताना नहीं आता,
किसी को ऐसे तड़पना नहीं आता,
कैसे करे अपनी मोहब्बत का इजहार,
हमें तो यह बताना भी नहीं आता.

दिल का दर्द दिल तोड़ने वाला क्या जाने,
प्यार के रिवाजों को ये ज़माना क्या जाने,
होती है इतनी तकलीफ दिल टूटने पे,
ये बेवफा सनम क्या जाने….

बहुत उदास हूँ तेरे जाने से
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले
कपड़े धो धो थक गया हूँ तेरे जाने से…

वो लोगो के दिल मे रहता है,
इसलिए मुश्किल में रहता है..!
सागर पे इल्ज़ाम लगाने वाला,
लहरों से दूर साहिल पे रहता है..!
जिसके माज़ी में नही ज़िक्र अपना,
वो ही मुस्तक़बिल में रहता है

Baat Nahi Karne ki Shayari in Hindi | बात नहीं करने की शायरी

हर बात पर अब तुम रूठने लगे हो,
हर पल दूर रहने लगे हो,
शायद मुझसे दूर होने लगे हो,
इसलिए बात ना करने का बहाना ढून्ढ रहे हो।

तन्हाई ने ही हर दर्द को सहने का सलीक़ा
सीखा दिया, मुँह मोड़ कर अपनो ने जीने
का तरीक़ा बता दिया…

औरत की इज्जत करो, इसलिए नहीं
की वो औरत है बल्कि ये साबित करने
के लिए कि आपकी परवरिश एक
अच्छी माँ ने की है.

जिंदगी में कुछ लोग ऐसे भी होते है
जो इश्क़ करना तो जानते है लेकिन
अपने इश्क को निभाना नहीं जानते हैं.

मतलबी लोगों के साथ रहने का मजा ही
कुछ और है,थोड़ी तकलीफ होती है पर
पूरी दुनिया के हर बुरे इंसान की दर्शन उनके अंदर ही हो जाते है.

कितना फर्क हैं ना हम दोनो की चाहत में..
मुझे तुम्हे याद करने से फुर्सत नही और
तुम्हे मुझे याद करने की फुर्सत नही।.

आँखों में देख कर वो दिल की हाल जानने लगे।
उनसे कोई रिश्ता भी नहीं फिर भी अपना सा लगने लगे,
बन कर हमदर्द कुछ ऐसे उन्होंने हाथ थामा मेरा।
कि हम खुदा से उन्हें दुआ मे मांगने लगे।

अगर हमसे कोई गलती हुई हैं तो हमें बताओ तो सही,
यूह बात ना करने की सजा दे के हमे खुद से दूर ना करो.

मोहब्बत का कोई कसूर नहीं ,
उसे तो मुझसे रूठना ही था ,
दिल मेरा फूल सा नाजुक और,
फूल का अंजाम तो टूटना ही था…

वो शक्स जाते-जाते मुझे बदनाम कर गया,
रुसवाइयों का शहर मेरे नाम कर गया.
आदत थी मेरी सबसे मोहब्बत से पेश अना
मेरी आदत ही मुझे बदनाम कर गया.

Call तुम उठाते नहीं, बात तुम हमसे करते नहीं,
Msg का रीप्ले तुम देते नहीं
क्या हम यह मान ले की अब तुम मेरे लायक नहीं।

हमें आदत नहीं हर एक पे मर मिटने की,
हर किसी से हँस के बात करने की,
तुझ में बात ही कुछ ऐसी थी,
कब तुम से मोहब्बत हो गई,
दिल ने सोचने की मोहलत ना दी..

ना जाने उनकी ऐसी क्या मज़बूरी आ गयी हैं
हम से दूर रहने का बहाना ढूँढते रहते हैं.

कैसे बयान करे दर्द अपने दिल का,
वो क्या समझे दर्द इन आंखों का,
चाहने वाले उनके इतने हो गए हैं कि,
अब एहसास ही नहीं उन्हें हमारी सच्ची मोहब्बत का…

अरे कैसी मेरी मजबूरी है call भी नहीं
कर सकता,दिल में दर्द बोहोत है लेकिन
बता नहीं सकता, आँखों मे आँसू तो भरे है
लेकिन रो नहीं सकते है.

अब मान भी जाओ तुम दिल तोड़ना नहीं अच्छा..
लोग तो बहुत मिलेंगे पर ढूंढते रह जाओगे कोई
हम जेसा मोहब्बत करने वाला सच्चा.

अगर कोई दिल का करीबी तुमसे बात करना बंद कर देता हैं
तो समझ जाओ उनकी जिंदगी में उन्हें कोई और Hello कह रहा हैं.

तेरी हर बात मेरे दिल को छू कर निकलती हैं,
इसीलिए तुम से थोड़ा दूर रहती हूँ …!
कही आप की बातें मेरा दिल को तोड़ न दे!

बात नहीं करने की शायरी

आँख में पडा हुआ झूठी यकीन का पर्दा,
पैर में चुभा हुआ काँटा और रुई
में दबी हुई आग से भी भयानक
ह्रदय में छुपा हुआ कपट होता है !!

पहले चाहे सुबह हो या श्याम हर वक्त उनका Call आता रहता था,
पर अब एक Mesaage करने का भी उन के पास टाइम नहीं.

कभी किसीसे बात करने की आदत मत
डालना, क्यों की अगर वो बात करना
बंद कर दे तो, दुबारा जीना मुश्किल
हो जाता है यार।.

बदलना नहीं आता हमें मौसम की तरह,
हर एक मौसम मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ ||
ना तुम समझ सको मेरी मोहब्बत को,
कसम तुम्हारी तुम्हे पाने की खुदा से इतनी दुवा कारता हूँ.

तेरी हसी का कोई मोल नही है,
तेरे मेरे रिश्तों का कोई तोल नही है,
इंसान तो मिल जातें है हमे हर मोड़ पर,
लेकिन हर कोई आप की तरह अनमोल
नही होता है।

धीरे धीरे वो ज़िन्दगी में आते हैं
मीठी मीठी बातों से दिल में उतर जाते है
बच के रहना इन हुसन वालों से मेरे दोस्तों
इन की आग में कई आशिक जल जाते हैं।

जब रो रहे थे हम अपने हालात पर,
सब मुस्कुरा रहे थे जाने किस बात पर,
हम जिन्दगी की आग में यूँ झुलस गये,
कि यकीं नहीं होता अब खुदा के इंसाफ पर.

कहीं दूर चलें जाएंगे हम तेरी यादों से
ढूंढ नहीं पाओगे तुम हमें कभी किसी बहाने से आसुओं को रोक नहीं पाओगे अपने आँखों से.

Call नहीं कर सकता
Message नहीं कर सकता,
पर एक चीज़ कर सकता हु
तुझे याद कर सकता हु।

ख्वाब था, तुझे पाने का,
अहसास था, तेरा मेरा पास होने का
दिल तोडना तेरी यूँ ही फितरत हैं,
या शौख हैं हर किसी दिलो को आजमाने का…..

वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए!
वो खुशी ही क्या जो आँखों में नजर ना आये
कभी तो समझो मेरी खामोशी चहरे को,
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जायें!

निष्कर्ष

हमने इस आर्टिक्ल के माध्यम से आपको Baat Nahi Karne ki Shayari in Hindi | बात नहीं करने की शायरी की कलेक्शन तैयार कर के आपके सामने रखा है जो आपके परिजनों के रूठ जाने पर उन्हें मनाने के लिए काम आएगा.

अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

Leave a Comment