Bewafa Shayari in Hindi For Love 2019

अपने अक्सर सुना होगा कि आपके किसी दोस्त को उसकी गर्लफ्रेंड ने धोखा दे दिया और आपका भी लगता होगा कि सारी लड़कियां ऐसी होती हैं और आपको प्यार से भरोसा उठ गया होगा यही वजह है कि आज हमने आपके लिए बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर लव पोस्ट तैयार करके लाया है जिसमें आप धोखा देने वाली गर्लफ्रेंड को मैसेज के द्वारा एहसास दिला सकते हैं कि उन्होंने कौन सी गलती की है और आपके प्यार को अपने ठुकरा दिया है जिससे आपके दिल को बहुत तकलीफ पहुंची है.

इसीलिए इस पोस्ट के माध्यम से हमने बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड के अलावा हिंदी शायरी बेवफा सनम लेकर आए हैं जो आपको जरूर पसंद आएंगे. कोई इंसान प्यार सिर्फ इसलिए करता है ताकि उससे प्यार मिल सकेगा कि हर इंसान प्यार का भूखा होता है. मैं यहां सच्चे प्यार की बात कर रहा हूं उस पर कि नहीं जो लोग टाइम पास करने के लिए करते हैं. सच्चा प्यार हर किसी को नहीं होता जिसे होता है उसे ही पता होता है कि इसका महत्व क्या है अरे देर किस बात की चलिए और देखिए दर्द भरी बेवफा शायरी इनमें से कुछ कोट्स जो आपको बहुत पसंद आएंग.

बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर लव 2019

bewafa shayari in hindi for love

पहले तो देखा जाता था कि लड़की लड़कियों को धोखा देते हैं लेकिन ऐसा नहीं है किसी एक पर आरोप लगाना बिल्कुल भी सच नहीं है क्योंकि हो सकता है कि लड़की ने किसी मजबूरी बस लड़के को छोड़ा है क्योंकि लड़कियों पर परिवार का काफी दबाव होता है रोज यही वजह होती है कि वह प्यार करते हुए भी अपने बॉयफ्रेंड को अपना नहीं पाती है और परिवार के फैसले पर चलती है.

वो मिली भी तो भला क्या मिली बन के बेवफा मिली,
इतने तो मेरे गुनाह भी नहीं थे जितनी मुझको सजा मिली।

 

बहुत अजीब हैं ये प्यार करने वाले,

इनसे बेवफाई करो तो रोते हैं

और अगर वफा करो तो रुलाते हैं।

 

यूँ तो है कायनात मेरे पास बस दवा-ए-दिल नही,
दूर वो मुझसे है लेकिन मैं उस से नाराज नहीं,
मालूम है अब भी बहुत प्यार करता है वो मुझसे,
वो बस थोड़ा सा जिद्दी है लेकिन कोई बेवफा नहीं।

 

मेरी निगाहों में बहने वाला ये आवारा से आंसू
पूछ रहे है मेरी पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।

 

रुशवा क्यों करते हो तुम मोहब्बत को, ए दुनिया वालो,
अगर मेहबूब तुम्हारा बेवफा है, तो मोहब्बत का क्या गनाह।

 

भला क्या जानो तुम बेवफाई की हद दोस्तों,
वो हमसे प्यार करना सीखती रही किसी ओर के लिए।

 

हमारी तबियत भी न जान सके हमे ऐसे बेहाल देखकर,
और हम कुछ न बयां कर सके उन्हें खुशहाल देखकर।

 

मत रख मुझसे वफा की उम्मीद ऐ सनम,
हमने हर दम केवल बेवफाई पायी है,
मत ढूंढ हमारे बदन पे ज़ख्मो के निशान,
हमने तो सारी चोट दिल पे खायी है।

हिंदी शायरी बेवफा सनम

अभी के अभी तस्लीम कर लें तू नहीं तो मैं सही,
कौन मानेगा कि हम दोनों में से बेवफा कोई नहीं।

 

मेरे मन को अच्छे से तराशा है सभी के नेक इरादों ने,
किसी की बेवफाई ने और किसी के झूठे वादों ने।

 

ऊपर वाले ने पूछा क्या सज़ा दूँ उस बेवफ़ा को,
दिल ने कहा काश इश्क़ हो जाए उसे भी।

 

जाते-जाते उसके आखिरी शब्द यही थे,
जी सको तो जी लेना लेकिन मर जाओ तो बेहतर है।

 

मिल ही जाएगा कभी कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,
अब पूरा का पूरा शहर तो बेवफा हो नहीं सकता।

 

बंद कर देना मेरी इन खुली हुई आँखों को तुम,
आंसू तेरे देख कर कह दे न कोई बेवफा।

 

हर गलती तेरी माफ़ की तेरी हर भूल को भुला दिया,

अफ़सोस है कि मेरे प्यार का तूने बेवफाई सिला दिया।

 

इलाही क्यूँ नहीं उठती क़यामत आखिर माजरा क्या है,
हमारे सामने तो हैं लेकिन पहलू में वो दुश्मन के बैठे हैं।

 

तुम अगर हमेशा याद रखोगे तो इनायत होगी,
वरना हमको भला कैसी तुम से शिकायत होगी,
ये तो केवल बेवफाओं की दुनिया है,
तुम अगर हमें भूल भी जाओ जो रिवायत होगी।

 

रहने दे ये सारी किताबें तेरे काम की नहीं,
इस में तो  लिखे हुए हैं वफाओं के तज़करे।

 

अगले सालों  कि तरह होंगे करीने तेरे,
भला किसे मालुम नहीं बारह महीने तेरे।

 

मैंने इश्क़ किया बड़े होश के साथ!
मैंने इश्क़ किया बड़े जोश के साथ!
पर हम अब इश्क़ करेंगे बड़ी सोच के साथ!
क्योंकि आज उसे देखा मैंने किसी और के साथ!

 

कहती है दुनिया जिसे इश्क़, एक नशा है , खताह है!
हमने भी किया है इश्क़, इसलिए ये हमे भी पता है!
मिलती है थोड़ी खुशियाँ और ज्यादा गम!
लेकिन इसमें ठोकर खाने का भी कुछ अलग ही मज़ा है!

 

वो छोड़ के चले गए हमें;
न जाने भला उनकी क्या मजबूरी थी;
उपरवाले ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं;
तुम्हारी कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी।

बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर बॉयफ्रेंड

मोहब्बत में बेवाफाई मिले तो गम न करना;
अपनी आँखे किसी दूसरे के लिए नम न करना;
वो चाहे हज़ार नफरते करें तुमसे;
पर तुम अपना प्यार कभी भी कम न करना।

 

हम तो तुम्हारे दिल की महफ़िल सजाने आए थे;
तुम्हारी कसम तुम्हे अपना बनाने आए थे;
आखिर किस बात की सजा दी तुने हमको बेवफा;
हम तो तुम्हारे दर्द को केवल अपना बनाने आए थे।

 

हर दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है;
सबको अपने-अपने प्यार पर नाज़ होता है;
उसमें से हर एक बेवफा थोड़ी न होता;
उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई न कोई राज होता है!

 

चेहरों के लिए शीशे कुर्बान किये है;
इस शौक में अपने बहुत बड़े नुकसान किये है;
महफ़िल में मुझे गालियाँ देकर है आज बहुत खुश;
जिस शख्स पर मैंने बड़े-बड़े एहसान किये है।

 

मुझे केवल  इतना बता दो इंतज़ार करू

तुम्हारा या फिर मैं बदल जाऊ तुम्हारी तरह..

 

आदतन तुम ने खाई कसमें
आदतन हम ने उनपर ऐतबार किया
तुम्हारी राहो में बारहा रुक कर
हम ने अपना भी बहुत इंतज़ार किया
अब ना मांगेंगे मोहब्बत या रब
ये बड़ा गुनाह हमने एक बार कर दिया

 

तुमने कभी -समझा ही नहीं और ना ही  समझना चाहा,

 हम भला चाहते ही क्या थे तुमसे “तुम्हारे अलावा”

 

बिन बात के ही नाराज़गी की आदत है,
किसी करीबी का साथ पाने की चाहत है,
आप बस हमेशा खुश रहें, मेरा क्या है..
मैं तो एक शीशा हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है।

 

ये दीपक-ए-जान भी अजीब है,
कि जला हुआ है येअभी तक,
उसकी बेवफाई की हवाएं तो,
कबका आ के गुजर गईं।

बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर गर्लफ्रेंड

कभी जो हम से मोहब्बत बेशुमार करते थे,
कभी जो हम पर अपनी जान निसार करते थे,
भरी महफ़िल में हमको आज बेवफा कहते हैं,
जो कभी खुद से ज़्यादा हमपर ऐतबार किया करते थे।

 

जो कहते थे हमसे हैं वो तेरे सनम,
वो दगा दे गए बस देखते देखते।
देते थे इश्क़ का इनाम क्या,
वो तो सजा दे गए देखते देखते।
सोचता हूँ कि वो तब कितने मासूम थे,
आज बेवफा हो गए देखते देखते।

 

न रहा कर उदास ऐ मेरे दिल
उस बेवफा की याद में,
वो खुश है अपनी नयी दुनिया में
तेरा पूरा संसार उजाड़ के।

 

किस-किस को तू अपना खुदा बनाएगी,
किस-किस की तू यूँ ही हसरतें मिटाएगी,
कितने ही परदे डाल ले अपने गुनाहों पे,
बेवफा है तू और बेवफा ही नजर आएगी।

 

ट्रैफिक सिग्नल पर मुझे उसकी याद आ गई,
रंग तो वो भी अपना इसी तरह बदल गयी।

 

बेवफा से दिल लगा लिया कितने नादान थे हम,
गलती हमसे हुई क्योंकि सच्चे इंसान थे हम,
आज जिनसे नज़रें मिलाने में तकलीफ होती है,
कुछ समय पहले उन्ही के जान थे हम।

 

छोड़ गए हमको वो अकेले ही रास्तो में,
चल दिए रहने वो दूसरों  की पनाहों में,
शायद मेरी मोहब्बत उन्हें रास नहीं आई,
तभी तो सिमट गए वो अवारों की बाहों में।

 

एक बेवफा से मोहब्बत का अंजाम देख लो,
मैं तो खुद ही शर्मशार हूँ लेकिन उससे गिला नहीं,
अब कह रहे हैं मेरे कब्र पे बैठ कर,
यूँ शांत हो जैसे हमसे कोई वास्ता नहीं।

 

ऐ बेवफा तेरी बेवफ़ाई में दिल को बेकरार ना करूँ,
अगर तू कह दे तो तेरा सारी उम्र इंतेज़ार ही ना करूँ,
तू बेवफा है तो कुछ इस तरह बेवफाई कर,
कि तेरे बाद मैं किसी से कभी प्यार ही ना करूँ।

ये रूठ के नज़रें चुराने की आदत
आज भी बिलकुल नही बदली उनकी,
कभी मेरे लिए इस जमाने से और
अब इस जमाने के लिए हमसे।

हिंदी शायरी बेवफा सनम

जरूरी नहीं की हर एक रिश्ता बेवफाई के साथ ही खत्म हो

कुछ-कुछ रिश्तें किसी की ख़शी के लिए भी तोड़ने पड़ते हैं!

 

कौन कहता है हम उनके बिना मर जायेंगे,

हम तो दरिया है किसी समंदर में उतर जायेंगे,

वो तरस जायेंगे मोहब्बत की एक बून्द के लिए,

हम तो बादल है मोहब्बत के किसी और पर बरस जायेंगे!!

कभी एक ग़ज़ल तेरे लिए ज़रूर लिखूंगा,

बेहिसाब कतरा-कतरा उस में तेरा कसूर लिखूंगा,

टूट गए लड़कपन के तेरे सारे खिलौने,

अब मोहब्बत से खेलना तेरा दस्तूर लिखूंगा।

 

हर इक मोती चमकदार नहीं होता,

हर इक समंदर गहरा नहीं होता…

दोस्तो जरा संभल कर मोहब्बत करना,

हर सुन्दर चेहरा वफादार नहीं होता…

 

तेरे इश्क ने हमें दिया सुकून इतना कि,

तेरे बाद हमें कोई अच्छा न लगता …!!

तुझे करनी है बेवफाई तो इस कदर करती की,

तेरे बाद हमें कोई बेवफा न लगता…!!

 

वो निकल गए मेरी राहों से इस कदर कि,
जैसे कि वो मुझे अब पहचानते ही नहीं,
कितने ठोकर खाए हैं मेरे इस दिल ने,
फिर भी हम कभी उस बेवफ़ा को बेवफ़ा मानते ही नहीं।

 

हर पल कुछ सोचते रहने की इक आदत हो गयी है,
हर आहट पर चौंक जाने की इक आदत हो गयी है,
तेरे मोहब्बत में ऐ बेवफा, हिज्र की निशा के संग,
हमको भी अब जागते रहने की इक आदत हो गयी है।

अगर दुनिया में ज़िन्दगी की चाहत न होती,
तो भगवान ने मोहब्बत बनायी न होती,
इस तरह लोग मरने की दुआ  न मांगते,
अगर प्यार में किसी की बेवफाई न होती।

 

न पूछ मेरे सब्र की परीक्षा कहाँ तक है,
तू सितम कर ले तेरी हिम्मत जहाँ तक है,
वफ़ा की आरज़ू जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमे तो देखना है तू इक बेवफा कहाँ तक है।

दर्द भरी बेवफा शायरी

इंसान के कंधो पर एक इंसान जा रहा था,
कफ़न में लिपटा हुआ कोई अरमान जा रहा था,
जिसे भी मिली बेवफाई प्यार में,
वफ़ा कि तलाश में कोई शमसान जा रहा था।

 

कैसे भरोसा करे हम तेरी मोहब्बत का,
जब बाजार में बिकती है बेवफाई तेरे ही नाम से।

 

जब तक न लगे बेवफ़ाई के ज़ख्म दोस्त,
हर किसी को अपनी मोहब्बत पर गर्व होता है।

 

तेरी तो फितरत थी
सबसे मोहब्बत करने की,
हम बेवजह खुद को
खुश नसीब समझने लगे।

 

कभी निकलेंगे तलाश-ए-ज़िन्दगी में,
बस दुआ करना की इस बार कोई बेवफा न निकले।

 

नज़रें नज़रों से मिलेगी तो सर झुका लेंगे,
वो तो बेवफा है भला मेरा इम्तहान क्या लेगा,
उसे दीपक जलाने को मत कह देना,
वो ना समझ है अपनी उँगलियाँ ही जला लेगा।

 

उसके चेहरे पर इक ऐसा नूर था,
कि उसकी यादों में हमे रोना भी मंज़ूर था,
बेवफ़ा नहीं कह सकते हम उसको ‘फराज़’,
इश्क़ तो हमने किया है वो तो इक बेक़सूर था।

संक्षेप में

हां तो दोस्तों आपको बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर लव 2019 पोस्ट कैसी लगी. इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको बेवफा शायरी इन हिंदी फॉर गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड के अलावा हिंदी शायरी बेवफा सनम की कलेक्शन प्रस्तुत की और उम्मीद करते हैं कि यह सारी शायरी आपको बहुत पसंद आई होगी. प्यार हर किसी के दिल में होता है और यह तभी निकलता जब से सच्चा प्यार हासिल होता है कोई भी इंसान सच्चा प्यार कुछ खोना नहीं चाहता इसलिए अगर कुछ गलतफहमी की वजह से रिश्ते में दरार आती है तो उसको हल करना चाहिए यह नहीं कि गलतफहमी का शिकार होकर एक दूसरे के अलग हो जाए और गलत फैसले ले ले.

यह शायरी काफी दर्द में डूबे लोगों के दिलों कुछ होती है इसीलिए हमने दर्द भरी बेवफा शायरी कलेक्शन बहुत ही मेहनत करके तैयार किया है ताकि आप के गम वाले समय में भी काम आए और आप को दिलासा दे सके. अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, और व्हाट्सएप में शेयर करें.

Leave a Comment