50+ शहीद देश भक्ति शायरी – Desh Bhakti Shayari in Hindi

देशभक्ति का मतलब होता है अपने देश के प्रति प्रेम और इसीलिए जब स्वतंत्र दिवस, गणतंत्र दिवस या गांधी जयंती आती है तो सभी शहीद देश भक्ति शायरी (Desh Bhakti Shayari in Hindi 2022) ढूंढने लगते हैं. हम यही पर आपकी खोज को पूरा करने के लिए सबसे अच्छे और देश भक्ति से भरे शायरी और मेसेज लेकर आये हैं. इश्क और वतन शायरी पर आधारित लिखे नारे आप अपने दोस्तों के साथ शेयर कर के अपनी देश के प्रति प्रेम को दूसरों को बता सकते हैं. हर इंसान किसी देश में रहता है और वही उसकी मातृभूमि होती है. मातृभूमि से प्रेम इसीलिए होता है क्यों की इसी मिटटी से बनते हैं और फिर इसी में जाकर मिल जाते हैं.

देशभक्ति एक सबसे अच्छा गुण माना जाता है. अपने देश के दुखो और परेशानियों के वक़्त हमेशा इसके साथ खड़ा रहना है. इसके लिए लगातार काम करना और जब देश के लिए जान देने का वक़्त आये तो अपने प्राण भी न्योछावर करने से पीछे नहीं हटना चाहिए. हम देश के निवासी हैं लेकिन हमारे देश के नौजवान हर वक़्त हमारी देश की सीमाओं पर खड़े रह कर देश की सेवा करते हैं. जब जरुरत पड़ती है तो अपनी जान भी हँसते हँसते क़ुर्बान कर देते हैं.

मौसम चाहे ठंडी हो या गर्म हर स्थिति में सीमा पर देश की रक्षा करने के लिए खड़े रहते हैं. हम इतनी सेवा तो नहीं कर सकते लेकिन देश के विकास में साथ देकर हम अपनी देशभक्ति का प्रमाण दे सकते हैं. तो चलिए आप भी अच्छे Desh Bhakti Shayari in Hindi 2 Line में से अच्छे देशभक्ति के के हिंदी स्लोगन चुने और सभी को भेजें.

शहीद देश भक्ति शायरी – Desh Bhakti Shayari in Hindi

देशभक्ति हर इंसान में जन्म से मौजूद रहता है. भले वो किसी भी धर्म का हो सभी को अपने देश के प्रति लगाव होता है. इसीलिए अपने देश के लिए किया गया काम जो उसके विकास में योगदान दे वो भी देशभक्ति ही होती है. आप भी अपने देश के प्रति प्रेम  रखते हैं तभी यहाँ पर आये हैं. और यकीन मानिये आप यहाँ से निराश होकर नहीं जाएंगे. यहाँ पर हम आपके लिए देशभक्ति शायरी हिंदी फॉण्ट और लैंग्वेज में लकर आये हैं. तो आप भी इन शायरी और एस एम एस का लुत्फ़ उठायें और सभी को शेयर भी करें.

मैं भारतवर्ष का हरदम हरपल सम्मान करता हूँ!!
यहाँ की चांदी सी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ!!
चिंता नहीं है मुझे स्वर्ग में जाकर मोक्ष पाने की!!
हो तिरंगा कफन मेरा बस यही अरमान रखता हूँ!!

करता हूँ भारत माता से गुजारिश हमेशा यही कि!!
तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी कभी न मिले!!
हर जन्म मिले हिन्दुस्तान की पावन धरती पर!!
या फिर कभी मुझे जिंदगी ही न मिले!!

सलामी दो इस तिरंगे को जिस से तेरी शान हैं!!
इसका सिर हमेशा ऊँचा रखना जब तक शरीर में जान हैं!!
नमन करो इस तिरंगे-झंडे को जिस से तेरी शान हैं!!
इसका सिर हमेशा ऊँचा रखना जब तक शरीर में जान हैं!!

जब मेरी आँख खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो!!
जब मेरी आँख बंद हो तो यादे हिन्दुस्तान की हो!!
हम मर भी जाए तो कोई गम नही लेकिन यारों!!
जब मरे तब मिट्टी हिन्दुस्तान की हो!!

खुशनसीव होते हैं वो लोग जो वतन पर मर मिट जाते हैं!!
मर कर भी वो लोग एक दिन अमर हो जाते हैं!!
तुम लोगों को सलाम करता हूँ ऐ वतन पर मिटने वालो!!
तुम्हारी हर सांस में बसना तिरंगे का नसीव हैंं यारों!!
जय हिन्द…!

ओ मेरे हिंदुस्तान के लोगों तुम खूब लगा लो नारा!!
यह शुभ दिन है हम सभी का लहरा लो तिरंगा प्यारा!!
भूलो मत सीमा पर वीरों ने अपने प्राण गँवाए!!
कुछ याद उन्हें भी कर लीजिए जो लौट के घर न आये!!

हर वक्त मेरी आँखों में धरती माता का स्वप्न हो!
जब कभी मरू तो तिरंगा मेरा कफन हो!!
कोई और ख्वाहिश नहीं है जिंदगी में!
जब कभी भी जन्म लू तो भारत मेरा वतन हो!!

कभी शहीदों को याद करके देख लेना!
सनम को छोड़ के देख लेना!!
कोई महबूब नहीं है वतन जैसा यारो!
देश से कभी इश्क करके देख लेना!!

कभी आजादी की शाम नही होने देगे!!
शहीदों की कुरबानी बदनाम नहीं होने देंगे!!
एक बूंद भी बची हो गरम लहू की तब तक!!
भारत माता का आचल नीलाम नहीं होने देंगे!!

!! जय हिंद !!

इस दुनिया में अधिकार मिलते नहीं लिए जाते है!
आजाद हैं फिर भी गुलामी किये जाते हैं!!
बंदन-अभिनदंन करो उन सैनिकों का!
जो मौत को आँचल में लिए जाते हैं!!

ये जरूर देखें:

इश्क और वतन शायरी

तैरना है तो समंदर में तैरो छोटी-छोटी नदियों में क्या रखा हैं!!
प्यार करना है तो अपने देश से करो मेहबूब में क्या रखा हैं!!

दे दो सलामी इस तिरंगे को!!
जिस से तेरी हमेशा शान हैं!!
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका!
जब तक शरीर में जान हैं!!

इतना भी मत मरो सनम बेवफा के लिए!!
दो गज जमीन भी नहीं मिलेगी दफन के लिए!!
मरना है तो मरो अपने वतन के लिए!!
हसीना भी दुपट्टा निकाल देगी कफन के लिए .!!
!! जय हिंद !!

जशन आजादी का मुबारक हो देश वालो को!
फंदे से भी मोहब्बत थी हम वतन के मतवालो को!!
सिंह जैसे इस देश में जन्में वीर हैं यहाँ के!
कुर्बानी की इनकी गाथाएं गता है यह सारा हिंदुस्तान!!

किसी की गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ!
नन्ही सी गुड़िया को अपनी चहकता छोड़ आया हूँ!!
छाती से अपनी मुझे तू लगा लेना ओ भारत माँ!
मैं अपनी माँ की खोद को तरसता छोड़ आया हूँ!!

इश्क तो करता ही है हर कोई!!
महबूब पर मरता ही है हर कोई!!
कभी वतन को महबूब बना कर देखो!!
तुझ पर भी मरेगा हर कोई!!

बस यही बात हवाओं को बताये रखना!
रौशनी होगी चारों तरफ बस चिरागों को जलाये रखना!!
लहू देकर जिस तिरंगे की हिफाजित की उन शहीदों ने!
उस तिरंगे को सदा अपने दिल में बसाये रखना!!
आजादी की हम कभी शाम नहीं होने देंगे!!
शहीदों की कुर्बानी कभी बदनाम नहीं होने देंगे!!
एक बूंद भी बची हो तक तक जो लहू की!!
भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे!!

इस जमानेे में आशिक कई मिलते जाते हैं!
लेकिन वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं मिलता!!
नोटों में लिपट कर सोने में सिमटकर कई शासक मरे हैं!!
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफन नहीं होता हैं!!
!! जय हिंद !!

चलो आज फिर से वो नजारा याद कर ही लेते हैं!!
शहीदों के दिल में थी जो आग वो याद कर ही लेते हैं!!
जिस पर से बहकर आजादी पहुँची थी किनारे पर!!
देशभक्तों के खून की वो धारा याद कर ही लेते हैं!!

Desh Bhakti Shayari in Hindi

अंजाम लिख रहा हूं मैं जिसका कल आगाज आएगा!!
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा!!
यह वादा है तुमसे मेरा कि मैं रहूँ या ना रहूँ पर!!
मेरे मरने के बाद वतन पर सैलाब आएगा!

खूब बहती है अमन की गंगा बहने दो,
मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो,
लाल हरे रंग में ना बाटो हमको,
मेरे छत पर एक तिरंगा रहने दो…!!

अपनी धरती अपना हैं ये वतन!!
मेरा है यह वतन इस वतन पर जो आँख उठाएगा!!
यहीं जिंदा दफना दिया जाएगा!!
मुझे जान से भी प्यारा है ये वतन..!!

सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में हैं!!
देखना हैं जोर कितन बाजू-ए-कातिल में हैं!!
वक्त आने दे बता देंगे तुझे ए आसमां!!
अभी से हम क्या बताएं क्या हमारे दिल में हैं!!

लड़ें वो बीर जवानों की तरह!!
ठंडा खून फौलाद हुआ था!!
मरते-मरते भी की मार गिराए कई!!
तभी तो देश आजाद हुआ था!!

किसी को लगता हैं हिन्दू खतरे में हैं!!
किसी को लगता मुसलमान खतरे में हैं!!
धर्म का चश्मा उतार कर देखो मेंरे यारों!!
पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ही खतरे में हैं!!

नमन हैं मेरा उन अमर शहीदो को!!
इस जगत में शौर्य की जीवित कहानी बन गये!!
नमन हैं उनको जिनके सामने बौना हिमालय!!
धरा पर जो गिर पड़े पर वह आसमानी हो गये!!

आँखों की उन दो बूंदों से सातों सागर हारे हैं!!
जब मेहँदी वाले हाथों ने मंगल-सूत्र उतारे हैं!!

कुछ पन्ने पढ़ कर इतिहास के!!
मेरे मुल्क के सीने में शमशीर हो गएँ!!
जो लड़े जो मरे वो शहीद हो गएँ!!
जो डरे जो झुके वो वजीर हो गएँ!!

आजादी की चिंगारी मेरे जश्न में हैं!!
इन्कलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं!!
मौत जहाँ जन्नत हो यह बात मेरे वतन में हैं!!
कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में हैं!!

Desh Bhakti Shayari in Hindi 2 Line

चले आओ लौट कर मेरे परिंदों अपने आसमान में!!
अपने देश की मिट्टी से खेलो दूर-दराज में क्या हैं!!

मेरे मुल्क की हिफाजत ही मेरा फर्ज है!!
और मेरा मुल्क ही मेरी जान है!!
इस मुल्क पर कुर्बान है मेरा सब कुछ!!
इससे बढ़कर मुझे अपनी जान नही है!!

गूंजे कहीं पर शंख और कहीं पर अजान है!!
ग्रन्थ, बाइबिल, गीता का ज्ञान है!!
दुनिया में कहीं और ये मंजर नसीब नहीं!!
दिखा दो दुनिया को कि यह मेंरा हिन्दुस्तान है!!

मुझे ना तन चाहिए ना इतना धन चाहिए!!
बस अमन से भरा यह प्यारा वतन चाहिए!!
जब तक जिन्दा रहू इस मातृ-भूमि के लिए!!
और जब मरुँ तो तिरंगा कफन चाहिये!!

यह मेरे देश के लोगों तुम खूब लगा लो नारा!!
यह शुभ दिन हम सब का हैं लहरा लो तिरंगा प्यारा!!
मत भूलो सीमा पर वीरों ने अपने प्राण हैं गँवाए!!
कुछ याद उन्ह लोगों को भी कर लो जो लौट के घर न आए!!

कुछ तो नशा तिरंगे की आन का है!
कुछ तो नशा मातृभूमि की मान का है!!
हम लहरायेंगे हर जगह यह तिरंगा!
नशा यह हिन्दुस्तान की शान का है!!

जस्बे को कर बुलंद जवान!!
तेरे पीछे खड़ी हैं आवाम!!
हर पत्ते को मार गिरायेंगे!!
जो हम से देश बटवायेंगे!!

हल्की सी धुप बरसात के बाद आती हैं!!
थोड़ी सी खुुुशी हर बात के बाद आती हैं!!
देेेेश की आजादी का यह त्यौहार मुबारक हो आपको!!

शहीद देश भक्ति शायरी

हमारे देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है!!
भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है!!
भारत देेेश को फिर से देशभक्त परवानों की जरूरत है!!

हमारा वतन ऐसे हैं जिसको न कोई छोड़ पाए!!
रिश्ता हमारा ऐसा हो जिसको न कोई तोड़ पाए!!
दिल हमारे एक है एक हमारी जान हैं!!
हिंदुस्तान हमारा है हम इसकी शान हैं!!

अगर वतन मुश्किल में होगा तो!!
हम भारतवासी खून से खेलेंगे होली!!
लेकिन अपने भारत देश पर हम!!
कभी आंच तक नहीं आने देंगे!!

जो लोग करते हैं प्यार अपने वतन से!!
वो लोग वतन के लिए लहू तक वहां देते हैं!!
भारत माँ चरणों में अपना शीश झुका कर!!
अपने देश की आजादी बचाने के लिए!!
हँसते-हँसते अपनी जान तक लुटाते देते हैं!!

खुशनसीब होते हैं वो लोग जो वतन पर मर मिट जाते हैं!
वो लोग मर कर भी अमर हो जाते हैं!!
उन्हें करता हूं सलाम ए वतन पर मिटने वालों!
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसाने वालों!!

दोस्ताना इतना बरकरार रखो कि!!
मजहब बीच में न आये कभी!!
तुम उसे मंदिर तक छोड़ दो!!
वो तुम्हें मस्जिद छोड़ आए कभी!!

आज मुझे फिर इस बात का गुमान हो!!
मस्जिद में भजन मंदिरों में आजन हो!!
खून का रंग फिर एक जैसा हो!!
तुम मनाओ दिवाली मेरे घर रमजान हो!!

मैं मुस्लिम हूँ, तू हिन्दू है, लेकिन दोनों इंसान हैं!
दीजिए मैं तेरी गीता पढ़ लूँ, तूम पढ लो कुरान!!
अपने तो दिल में है दोस्त बस एक यही हैं अरमान!
एक थाली में खाना खाए सारा हिन्दुस्तान!!

यह हमारा हमेशा कर्तव्य होता है कि हम!!
अपनी स्वतंत्रता का मोल अपने खून से चुकाएं!!
अपने बलिदान और परिश्रम से जो आजादी मिले!!
हमारे अन्दर उसकी रक्षा करने की ताकत रखते हैं!!

देश के लिए प्यार है तो जताया करो!!
किसी का इन्तजार मत किया करो!!
हम भारतीय हैं इसलिए गर्व से बोलो!!

!!जय हिंद!!

मेरा “हिंदुस्तान” हमेशा महान था!!
महान है और हमेशा महान रहेगा!!
तो एक दिन पाकिस्तान भी जय हिन्द कहेगा!!

निष्कर्ष

दोस्तों आपको ये पोस्ट Desh Bhakti Shayari in Hindi 2022 (शहीद देश भक्ति शायरी इन हिंदी) कैसी लगी? यहाँ पर आपको Best Indian Patriotic Slogans in Hindi में कलेक्शन के रूप में तैयार किया है जो इसी मौके पर काम आएगा जब भी देश में राष्ट्री त्यौहार आते हैं.

15 अगस्त, 26 जनवरी और गाँधी जयंती के अवसर पर लोगों के मन में देशभक्ति की भावना और बढ़ जाती है. इन्ही दिनों लोग ज्यादा तर देशभक्ति पर आधारित स्लोगन्स, एस एम एस , मेसेजेस, विशेष हिंदी में सभी के लोगों के साथ शेयर करते हैं.

उम्मीद करता हूँ की आपको ये पोस्ट deshbhakti status in hindi  पसंद आयी होगी. अगर आपको देशभक्ति पर बनाये गए पोस्ट अच्छी  इसे फेसबुक,ट्विटर, इंस्टाग्राम पर अधिक से अधिक जरूर .शेयर करें.

Leave a Comment