Jija Sali Shayari in Hindi in 140 characters for SMS

अवलोकन: इस पोस्ट के ज़रिये हम आपको कुछ जीजा-साली शायरी (Jija-Sali shayari in Hindi) उपलब्ध कराएँगे जिनको आप आसानी से किसी भी प्लेटफार्म पर शेयर कर सकते हैं.

विवाह दो मनुष्यों का ही नहीं बल्कि दो परिवारों का भी मेल होती है. शादी होने के बाद इंसान के कई नए रिश्ते बनते हैं, और इनमे से एक रिश्ता जीजा साली का भी होता है. जीजा साली का रिश्ता एक रोमांचक  रिश्ता होता है, जिसमे अक्सर दोनों एक दुसरे की खिचाई करते नज़र आते हैं. चुलबुली सालिया अपने जीजा-दीदी के साथ मौज मस्ती करती हैं. अक्सर ये हसी मज़ाक इस हद तक हो जाता है की दोनों मेसे कोई न कोई रूठ ही जाता है.

रूठे जीजा को मानना किसी पहाड़ खोदने से कम नहीं है. सलियाँ चाहे जितना भी मानाने की कोशिश करें, लेकिन जीजाजी मानने को तैयार ही नहीं होते. अपने नवाबी नखरों के लिए मशहूर जीजा जी को मानाने के लिए फिर सालियाँ शायरियों का शहर लेती है. और यह उपाय काफी हद तक सफल भी हो जाता है.

सालियों को घर पर आने से मानो पूरे घर में रौनक सी छा जाती है. हर तरह हसी की खिलखिलाहट ही सुनाई देती है. और उनके जाते ही मानो पूरा घर किसी रेगिस्तान की भाँती सूना हो जाता है. वे अपने साथ मानो अपनी हसीं भी साथ ले जाती हैं.

इस पोस्ट में हम आपके लिए कुछ ऐसी शायरियां लाएं है जिनको आप अपनी साली के साथ शेयर कर सकते हैं. ये चुनिंदा शायरी हमारे एक्सपर्ट्स आपके लिए हिंदी और इंग्लिश फॉण्ट, दोनों में लेकर आये हैं. ताकि आप जिस भाषा में निपुण हो, उस भाषा में शायरी का लुत्फ़ उठा सकें.

 

Jija Sali Shayari in Hindi

 

हाय मन में तो हैं कुछ न कुछ,
ऐ साली तुम्हारे भी,
पैगाम तुम्हारी नजरें देती हैं,
चाहे तुम नजरे फेरो भी.

 

Haaye man me to hain kuch na kuch,

ae saali tumhare bhi,

paigaam tumhari nazre deti hain,

chaahe tum nazre fero bhi…

 

साली जी का यूँ देख कर धीरे से मुस्कुराना,
कर जाता हैं लाखों को दीवाना…

 

Saali ji ka yu dekh kar dheere se muskuraana,

Kar jata hai lakho ko deewana…

 

जब देखा तेरा चांदी सा बदन,
देखते रह गए मलमल के आँख
छूना चाहा जब हमने साली जी को,
हाय चुपके से आ गयी हमारी सास

 

Jab dekha tera chaandi sa badan,

dekhte reh gaye malmal ke aankh,

chhoona chaaha jab humne saali ji ko,

haaye chupke se aa gayi humari saas…

 

इश्क़ नाम हैं किसका, शुरू कहाँ से वो होती हैं,
इसे किया पैदा किसने और ये खत्म कहाँ पर होती हैं….

 

Ishq naam hai kiska, shuru kaha se vo hoti hai,

Ise kiya paida kisne aur ye khatam kaha par hoti hai…

 

Jija sali shayari hindi me

 

सीने पर लेते हो सिसकियाँ खुद ही,
भींच कर तकिये से अपनी कातिल जवानी को
हाय साली जी क्यों खफा हो गई हमसे,
अगर ले लिया आगोश में तुम्हारी दीवानी को.

 

Seene par lete ho siskiyaan khud hi,

Bheench kar takiye se apni katil jawani ko,

Haaye saali ji kyo khafa ho gaye humse,

Agar le liya aagosh me tumhari diwani ko…

 

यहाँ मर न जाऊं मैं प्यासा,
मेरे बिन पिलाये ही चली गयी
लिया है इक बोसा, छोटा सा
और साली जी तुम तो खफा हो गयी.

 

Yaha mar na jau main pyasa,

Mere bin pilaye hi chali gayi

Liya hai ik bosa, chhota sa,

Aur sali ji tum to khafa ho gayi….

 

मेरे इस दर्दे दिल की दवा क्या करोगें,
बड़े ना समझ हो वफा भला क्या करोगें,
वफा करके भूल जाओगे देखना  इक दिन,
मेरे इस दिल को लेकर पता क्या करोगे…

 

Mere is darde dil ki dawa kya karoge,

Bade na samajh ho vafa bhala kya karoge,

Vafa karke bhool jaoge dekhna ek din,

Mere is dil ko lekar pata kya karoge….

 

हुस्न तो दिया ऐ रब तुमने,
हाय इस लम्बी काली जुल्फों वाली को,
काश तुमने दिया होता सुन्दर दिल भी,
हमारी इस प्यारी सी छोटी साली को…

 

Husn to diya ae rab tumne,

Haaye is lambi kaali zulfo vali ko,

Kaash tumne diya hota sundar dil bhi,

Humari is pyari si choti saali ko….

 

Jija Sali funny shayari

 

ऐ जीजा, इलाज आपके इस दर्द का,
हमारे तो क्या पास किसी के नहीं,
यूँ तो समाये हो नस नस में
दवा इसकी तो उस रब के पास भी नही.

 

Ae jija, ilaaj aapse is dard ka,

Humare to kya paas kisi ke nahi,

Yu to samaye ho nas nas me,

Dawa iski to us rab ke paas bhi nahi…

 

मार गोली उस बेवफ़ा को, चाहे नस्लें हूर हो,
कर इश्क़ इक वफादार से चाहे कितनी दूर हो…

 

Maar goli us bewafa ko, chaahe nasle hoor ho

Kar ishq ik vafadar se chaahe kitni door ho….

 

तुम्हारी याद आती हैं साली,
जब भी दिखती है हमे हमारी घरवाली,
याद दिलाती है तुम्हारे होंठो की,
उनके होठों की लाली…

 

Tumhari yaad aati hai saali,

Jab bhi dikhti hai humein hamari gharwaali,

Yaad dilati hai tumhare hontho ki,

Unke hontho ki laali….

 

हर किसी का दिल धड़कता हैं देखके अपनी साली,
मन की तमन्ना होती हैं काश ये होती दूसरी घरवाली…

 

Har kisi ka dil dhadakta hai dekhke apni saali,

Man ki  tamanna hoti hai kash ye hoti doosri gharwali…

 

Love shayari for saali

 

दिल भी क्या कोई चीज है देने वाली,
हम तो दे बैठे इसे जीजाजी को
कर दिया चकनाचूर हमारे दिल के शीशे का,
बैठा रखा है दिल में दीदी को.

 

Dil bhi kya koi cheez hai dene wali,

Ham to de baithe ise jijaji ko,

Kar diya chakhnachoor hamare dil ke shishe ka,

Baitha rakha hai dil me didi ko…

तेरी दीदी को हमने दूर किया,
तुझे मोहब्बत करने पर मजबूर किया,
तुझसे मिलने पर दिल धड़कता है,
दिल में इश्क़ का शोला भड़कता है…

 

Teri didi ko humne door kiya,

Tujhe mohabbat karne par mazboor kiya,

Tujhse milne par dil dhadakta hai,

Dil me ishq ka shola bhadakta hai…

 

इस दिल के टूटने से पहले
ऐ साली ग़लतफहमी में थे हम
एक कातिल हसीना के दिल को भी
थोड़ा नाजुक समझे हुए थे हम.

 

Is dil ke tootne se pehle

Ae saali galatfehmi me the hum,

Ek kaatil hasina ke dil ko bhi

Thoda nazuk samjhe hue the hum….

 

लोग कहते हैं शराब होगी जितनी पुरानी
नशा वो करेगी उतना ही ज्यादा
कुछ लोग तो मरते है बड़ी साली पर भी
क्योंकि उसकी जवानी तड़पती है ज्यादा.

 

Log kehte hain sharab hogi jitni purani,

Nasha vo karegi utna hi zyada,

Kuch log to marte hain badi saali par bhi,

Kyonki uski jawaani tadapti hai zyada…

 

Funny Shayari of jiju and sali

 

मेरी अर्थी पर ऐ साली जी डाल देना,
अपना लाल दुपट्टे को कफ़न समझ कर,
आराम से सो सकूंगा मैं कब्र में,
हाय ! हाथ में तेरे दामन को समझ कर…

 

Meri arthi par ae saali ji daal dena,

Apna laal dupatte ko kafan samajh kar,

Aaram se so sakunga mai kabr me,

Haaye! hath me tere daaman ko samajh kar….

 

ज़िन्दगी जीने का मजा तो है तब ही
जब मेरे आगोश में हो साली तू ही
वरना क्यों अपने होठों से हिलाकर
हमारे होश गवाती रहती हो यूँ ही

 

Zindagi jeene ka maza to hai tab hi,

Jab mere aagosh me ho saali tu hi,

Varna kyo apne hontho se hilakar,

Humare hosh gawati rehti ho yu hi….

 

बिना देखे तुझे रहा नही जाएगा,
ये दर्द और गम सहा नही जाएगा,
तुम अब जाओगे ही नही ओ जीजाजी,
तो दर्द किसी से भी कहा नही जाएगा…

 

Bina dekhe tujhe raha nahi jayega,

Ye dard aur gam saha nahi jayega,

Tum ab jaoge hi nahi o jijaji,

To dard kisi se bhi kaha nahi jayega….

 

अपनी साली जी के हुस्न के बिना,
निकलने को है अब यह जान तेरी
कर मेरी प्यास बुझाने का,
कोई इंतजाम, ऐ प्यारी बीबी मेरी.

 

Apni saali ji ke husn ke bina,

Nikalne ko hai ab ye jaan teri,

Kar meri pyaas bujhaane ka,

Koi intezaam, ae pyari bibi meri….

 

ऐसे धीरे से मुस्करा कर,
हाय, ना देख हमें साली हसीना
खाकर तीर तेरी कातिल नजरों के
घायल न हो जाए कहीं यह दीवाना

 

Aise dheere se muskra kar,

Haaye, na dekh humein saali hasina,

Khakar teer teri kaatil nazro ke,

Ghayal na ho jaaye kahin yah diwana….

 

Hindi me jija sali ki shayari

 

पत्र लिखती हूँ खून से स्याही ना समझना,
आपकी सिर्फ साली हूँ , हमें घरवाली ना समझना…

 

Patr likhti hu khoon se syaahi na samajhna,

Aapki sirf saali hu, gharwali na samajhna….

 

मत पूछों कि आज कौन आया हैं,
हाय आज जीजा मेरा आया है,
बड़ी अर्सों  के बाद आज उसने
मुझकों गले से लगाया है.

 

Mat pucho ki aaj kaun aaya hai,

Haaye aaj jija mera aaya hai,

Badi arso ke baad aaj usne,

Mujhko gale se lagaya hai…

 

बहुत मुश्किल है दीदार साली के,
आज अपने सालों के साथ बैठकर,
मेरा दिल और बैचेन हो गया,
आज खिड़की उनकी बंद देखकर.

 

Bahut mushkil hai didar sali ke,

Aaj apne saalon ke sath baithkar,

Mera dil aur bechain ho gaya,

Aaj khidki unki band dekhkar…

 

Also Read :

 

 

ऐ जीजा जी ! तुम क्यों हो कर बैठे हो ऐसे नाराज,
बजाती हूँ मै साज तुम ज़रा  निकालों आवाज,
ऐसी वीरानगी सी क्यूँ छाई है तुम्हारे चेहरे पर,
देखते नही क्या की प्यार करने का मौसम है आज…

 

Ae jijaji! tum kyo ho kar baithe ho aise naraz,

Bajati hoon mai saaj tum zara nikalo awaz,

Aisi virangi si kyu chhai hai tumhare chehre par,

Dekhte nahi kya ki pyaar karne ka mausam hai aaj…

 

Jiju saali funny quotes

 

सोचा था कि अगर बड़ी नही छोटी ही सही,
पर पट न सकी हमसे साली कोई,
सूरत है इस जिगर  में तेरी
भला कैसे मिलती मुझकों कोई.

 

Socha tha ki agar badi nahi chhoti hi sahi,

Par pat na saki humse saali koi,

Surat hai is jigar me teri,

Bhala kaise milti mujhe koi….

 

चढ़ी हो कातिल जवानी अगर साली की,
मुश्किल बढ़ जाती है जीजाजी की,
डॉक्टर हो अगर कोई नाजनीना,
दर्द और भी मिल जाता है बीमारों को…

 

Chhadi ho katil jawani agar sali ki,

Mushkil badh jati hai jijaji ki,

Doctor ho agar koi najnina,

Dard aur bhi mil jata hai bimaro ko…

 

हाय टकरा कर साली से,
चेहरे पर बहार सी आ जाती है,
और जब साली हाथ बढ़ाती है,
बीबी अपनी तुरंत जल जाती है…

 

Haaye takra kar saali se,

Chehre par bahaar si aajati hai,

Aur jab saali hath badhati hai,

Biwi apni turant jal jati hai….

 

इश्क़ करना था साली से, ऐ दिल तुझको,
मगर तू तो लगा रहा इसकी बड़ी बहनों से
दुश्वार करके रख दी हमारी इस जिंदगी को
और अब बता तुमको क्या मिला इन हसीनों से

 

Ishq karna tha sali se, ae dil tujhko,

Magar tu to laga raha iski badi behno se,

Dushwar karke rakh di humari is zindagi ko,

Aur ab bata tumko kya mila in hasino se….

 

मय जब पिलाने को हुई हमारी साली,
प्याले तो हमने एक तरफ रख दिए
और फिर लेकर अपने आगोश में उसे
पूरी बोतल पर ही अपने लब रख दिए.

 

May jab pilaane ko hui humari sali,

Pyale to humne ek taraf rakh diye,

Aur fir lekar apne aagosh me use,

Poori botal par hi apne lab rakh diye…

 

Romantic shayari for sali

 

चाल तो है तेरी मतवाली,
और आँखे तेरी है मय की प्याली
मै बेहोश हुआ हूँ पीकर,
आगोश में जब आई मेरी साली.

 

Chaal to hai teri matwali,

Aur aankhein teri hai may ki pyali,

Mai behosh hua hoon peekar,

Aagosh me jab aai meri saali…

 

इस आवारा दिल को आदत ऐसी डाल दी,
कातिल नजरों ने तेरी पिलाकर,
पीता है जुदाई के बाद भी,
अपने ही अश्कों को मदिरा समझाकर.

 

Is aawara dil ko aadat hai daal di,

Kaatil nazron ne teri pilakar,

Peeta hai judai ke baad bhi,

Apne hi ashkon ko madira samjhakar…

 

तेरा ये मतवाला हुस्न देख,
दिल मेरा तेज़ी से धड़कता है साली
फिर भी मेरी ये तमन्ना है बाकी
मेरी बनजा तू दूसरी घरवाली.

 

Tera ye matwala husn dekh,

Dil mera tezi se dhadakta hai sali,

Fir bhi teri ye tamanna hai baki,

Meri banja tu dusri gharwali….

 

यह शराब भी है तेरा कातिलाना,
ऐ साली तू तो है ही इक कातिल
क्योंकि तेरी नजरें है आशिकाना,
जीजा का फिर क्यों न होगा कत्ल.

 

Yah sharab bhi hai teri katilana,

Ae sali tu to hai hi ik katil,

Kyonki teri nazrein hain aashikana,

Jija ka fir kyon na hoga katl….

 

मिलाकर नजरें हमसे फिर झुका लेना,
सनम, समझ में हमारी आता ही नही,
अगर शर्माए ना टकराने के बाद भी,
तब जाने तुम्हें हमसें इश्क़ नही.

 

Milakar nazrein humse fir jhuka lena,

Sanam, samajh me humari aata hi nahi,

Agar sharmaye na takraane ke baad bhi,

Tab jaane tumhe humse ishq nahi….

 

संक्षेप में

दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने आपको कुछ जीजा साली शायरी हिंदी में (Jija Sali shayari in Hindi) उपलब्ध कराई हैं, जिनको आप फेसबुक, व्हाट्सप्प, इंस्टाग्राम या ट्विटर पर आसानी से शेयर कर सकते हैं. अपनी साली के साथ मौज मस्ती करने के लिए आप इन शायरियों का प्रयोग कर सकते हैं.

अगर आपको ये शायरी पसंद आयी हो, तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें ताकि वे भी अपनी साली के पास शायरी (Jija sali shayari in hindi) भेज पाएं. अपने सुझाव और राय हम तक पहोचाने के लिए निचे कमेंट बॉक्स का प्रयोग करे. हमें ये भी बतायें की आपको ये शायरी कैसी लगी.

 

 

 

Leave a Comment