Watan shayari in Hindi

मोहब्बतें तो कई तरह की होती है लेकिन जिस दिल में वतन की मोहब्बत ना उसका दिल फिर मोहब्बत से खाली है वैसे तो हर इंसान के दिल में देश के लिए जज्बा और सच्ची मोहब्बत हमेशा होती है लेकिन यह तो बाहर आती है जब ऐसे पल आते हैं जिसमें देश का नाम सबसे पहले लिया जाता है और इसीलिए आज हम आपके लिए वतन शायरी इन हिंदी लेकर के आए हैं.

इस पोस्ट में देश भक्ति शायरी हिंदी 2019 और प्यारा वतन शायरी का कलेक्शन देने वाले हैं. इन शायरी को पढ़ के आपके रगों में जो खून है वह और तेजी से दौड़ने लगेगा क्योंकि इन शब्दों में देश की मोहब्बत फिर ऊपर लिखी गई है. जिसके पास थी मोहब्बत से पाद रखने वाली चीज नहीं है और इसे कोई छू भी नहीं सकता इंसान जिस पैदा होता है वह उसी में फिर मिल जाता है. लेकिन इस बीच में अपनी पूरी जिंदगी में अपने देश की धरती पर ही निर्भर होता है.

हर मजहब है बचपन से बच्चों के लिए ही सिखाया जाता है कि सबसे पहले देश है और आपको अपने देश से सच्ची मोहब्बत रखी जरूरी है. जब इस पर आंच आए तो उसको बचाने के लिए आपको जान देने की जरूरी है. हमारा देश भारत कई सालों तक विदेशी ताकतों का गुलाम रहा भारत वासियों को देश प्रेम का महत्व बहुत अच्छे से पता है. अगर आप भी अपने देशभक्ति सुसज्जित दिल को दूसरों के सामने रखना चाहते हैं हमारे लिए पोस्ट हिंदुस्तान शायरी हिंदी बिल्कुल आपके काम की है तो फिर देर किस बात की हमारी पोस्ट हिंदी देशभक्ति स्लोगन में बेहतरीन लिखे गए मैसेज के कलेक्शन को पढ़ें और इनमें से जो अच्छे लगे उसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ शेयर करें.

वतन शायरी इन हिंदी

watan ki shayari

इस आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे
शहीदों की कुर्बानी को कभी बदनाम नहीं होने देंगे
बची हो जो एक बूंद भी शरीर में लहू की
तब तक हम भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे

Is aazadi ki kabhi shaam nahi hone denge
Shaheedo ki kurbani ko kabhi badnaam nahi hone denge
Bachi ho jo ek boond bhi shareer me lahoo ki
Tab tak hum Bharat mata ka aanchal nilaam nahi hone denge.

दिलों में से नफरत को निकालो
वतन के गद्दारों-दुश्मनों को मारो
ये मुल्क है खतरे में ए -मेरे -हमवतन
भारत माता के सम्मान को बचा लो

Dilo me se nafrat ko nikaalo
Vatan ke gaddaron-dushmano ko maaro
Ye mulk hai khatre me ae-mere-hamvatan
Bharat mata ke samman ko bacha lo…

मुझे तो ना तन चाहिए, ना धन चाहिए
बस शांति और अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जीता रहूं, इस कर्म भूमि के लिए
और जब मरुँ तो एक तिरंगा कफ़न चाहिये

Mujhe to na tan chahiye, na dhan chahiye
Bas shaanti aur aman se bhara yah vatan chahiye
Jab tak jeeta rahu, is karm bhoomi ke liye
Aur jab maru to ek tiranga kafan chahiye…

मैं देश की हिफाजत करूँगा
ये वतन मेरी जान है
इसकी सुरक्षा के लिए
मेरा दिल और जान दोनों कुर्बान है

Mai desh ki hifazat karunga
Ye vatan meri jaan hai
Iski suraksha ke liye
Mera dil aur jaan dono kurban hai…

लहू से खेलेंगे होली,
अगर देश मुश्किल में है
क्यूंकि सरफ़रोशी की तमन्ना
अब हमारे दिल में है,

Lahu se khelenge holi,
Agar desh mushkil me hai,
Kyunki sarfaroshi ki tamanna
Ab humare dil me hai…

देश भक्ति शायरी हिंदी 2019

शहीदों के कब्रों पर लगेंगे हर बरस मेले,
देश पे मर मिटनेवालों का बाकी यही निशां होगा

Shaheedo ke kabron par lagenge har baras mele,
Desh pe mar mitnewalo ka baaki yahi nisha hoga….

थोड़ा नशा तिरंगे की आन का है,
थोड़ा नशा मातृभूमि की मान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह अपना तिरंगा,
नशा यह मेरे हिन्दुस्तान की शान का है

Thoda nasha tirange ki aan ka hai,
Thoda nasha matrbhoomi ki maan ka hai,
Hum lehrayenge har jagah apna tiranga,
Nasha yah mere hindustan ki shaan ka hai…

मैं हिंदुस्तान का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ
यहाँ की सुनहरी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है ऊपर जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा का हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

Mai hindustan ka hardam amit samman karta hu,
Yaha ki sunhari mitti ka hi gungaan karta hu,
Mujhe chinta nahi hai upar jaakar moksha paane ki,
Tiranga ka ho kafan mera, bas yahi armaan rakhta hu…

कर जस्बे को बुलंद ऐ जवान
तेरे पीछे खड़ी है आवाम
हर पत्ते को हम मार गिरायेंगे
जो हमसे हमारा देश बटवायेंगे

Kar jasbe ko buland ae jawaan,
Tere piche khadi hai awaam,
Har patte ko ham maar girayenge
Jo humse hamara desh batwayenge…

 जो वतन के लिए शहीद हुए
उन वीरो को मेरा सलाम है
अपने लहू से जिस जमीं को सींचा
उन जवानो को सलाम है..

Jo watan ke liye shaheed hue,
Un veero ko mera salaam hai
Apne lahu se jis zameen ko seencha,
Un jawaano ko salaam hai…

प्यारा वतन शायरी

देशभक्तों से ही वतन की शान है
देशभक्तों से ही वतन का मान है
हम उस वतन के फूल हैं यारों
जिस वतन का नाम हिंदुस्तान है

Deshbhakto se hi vatan ki shaan hai,
Deshbhakto se hi vatan ka maan hai,
Ham us vatan ke fool hain yaaro,
Jis vatan ka naam hindustan hai…

गुलाम रहे इस देश को आजाद तुमने कराया है
सुरक्षित ज़िन्दगी देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है
दिल से तुमको नमन हैं करते हम
ये आजाद वतन जो तुमने हमको दिलाया है

Gulaam rahe is desh ko ajaad tumne karaya hai
Surakshit zindagi dekar tumne karz apna chukaya hai
Dil se tumko naman hai karte hum
Ye azaad vatan jo tumne humko dilaya hai…

इस देश के रखवाले हैं हम
शेर जैसे जिगर वाले हैं हम
मरने से हम नहीं डरते
मौत को बाँहों में खिलाते हैं हम
वन्दे मातरम…

Is desh ke rakhvale hain hum
Sher jaise jigar waale hain hum
Marne se hum darte nahi
Maut ko baaho me khilaate hain hum

जब वतन में थी दिवाली, वो झेल रहे थे गोली
जब हम बैठे थे अपने घरों में, वो खेल रहे थे होली
क्या लोग थे वो अभिमानी
है धन्य वो उनकी जवानी

जय हिन्द!!

Jab vatan me thi diwali, wo jhel rahe the goli
Jab hum baithe the apne gharo me, vo khel rahe the holi
Kya log the vo abhimaani
Hai dhanya vo unki jawaani
Jai hind!!!

खींच दो अपने लहू से जमीं पर लकीर
इस देश में न आने पाये ना रावण कोई
उखाड़ दो अगर कोई हाथ उठने लगे
छू ना पाये माता सीता का दामन कोई
राम भी तुम हो तुम्हीं लक्ष्मण साथियो
अब तुम्हारे हवाले ये वतन साथियो

Kheench do apne lahu se zameen par lakeer
Is desh me na aane paaye na raavan koi
Ukhaad do agar koi hath uthaane lage
Chhu na paaye mata sita ka daaman koi
Ram bhi tum ho tumhi Lakshan sathiyon
Ab tumhare havale ye vatan sathiyon…

हिंदुस्तान शायरी हिंदी

यह तिरंगा है आन मेरी
यह तिरंगा ही है शान मेरी
यह तिरंगा रहे सदा ऊँचा हमारा
इस तिरंगे से है धरती महान मेरी

Yah tiranga hai aan meri
Yah tiranga hi hai shaan meri
Yah tiranga rahe sada uncha humara
Is tirange se hai dharti mahaan meri…

लाइफ है कल्पनाओं की जंग
करो इसके लिए कुछ दबंग
जियो शान से और भरो उमंग
लहराओ सबके दिलों में वतन के लिए तिरंग

Life hai kalpanaon ki jang
Karo iske liye kuch dabang
Jiyo shaan se aur bharo umang
Lehraao sabke dilon me vatan ke liye tirang…

अधिकार मिलते नहीं छीने जाते हैं
आजाद हैं मगर हम गुलामी किये जाते हैं
वंदन करो उन जवानों को
जो मौत के आँचल में हमेशा जिए जाते हैं

Adhikaar milte nahi chhine jaate hain
Azaad hain magar hum gulaami kiye jaate hain
Vandan karo un jawano ko
Jo maut ke aanchal me hamesha jiye jaate hain…

मोहब्बत तो करता है हर कोई
आशिक़ पे तो मरता है हर कोई
कभी देश को महबूब बना के देखो
तुझ पर भी मरेगा हर कोई

Mohabbat to karta hai har koi
Aashiq pe to marta hai har koi
Kabhi desh ko mehboob bana ke dekho
Tujh par bhi marega har koi…

उनके जूनून का मुकाबला ही नहीं है कोई
जिनकी कुर्बानी का कर्ज हम सब पर उधार है
आज हम केवल इसलिए खुशहाल हैं क्यूंकि
सीमा पर जवान हमेशा बलिदान को तैयार है….

Unke junoon ka mukabla hi nahi hai koi
Jinki kurbani ka karz hum sab par udhaar hai
Aaj ham keval isliye khushhaal hain kyunki
Seema par jawan hamesha balidan ko taiyaar hai…

हिंदी देशभक्ति स्लोगन

जिसे सींचा खून से है वो यूँ खो नहीं सकती,
सियासत चाह कर जहर का बीज हरगिज बो नहीं सकती,
देश के नाम पर जीना देश के नाम मर जाना,
इस शहादत से बड़ी कोई इबादत हो नहीं सकती.

Jise seencha khoon se hai vo yu kho nahi sakti,
Siyasat chah kar zehar ka beej hargiz bo nahi sakti,
Desh ke naam par jeena desh ke naam par mar jana,
Is shahdat se badi koi ibadat ho nahi sakti…

किसी किसी को लगता हैं की हिन्दू ख़तरे में हैं,
किसी किसी को लगता है की मुसलमान ख़तरे में हैं,
कभी धर्म का चश्मा उतार कर देखो यारों,
तब पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं.

Kisi kisi ko lagta hai ki hindu khatre me hai,
Kisi kisi ko lagta hai ki musalman khatre me hai,
Kabhi dharm ka chashma utaar kar dekho yaaro,
Tab pata chalega humara hindustan khatre me hai…

है मेरा नमन उनको कि जो यशकाय को अमरत्व देकर,
जो इस जगत में शौर्य की जीवित कहानी हो गये हैं,
है मेरा नमन उनको जिनके सामने बौना हिमालय,
जो ज़मीन पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये हैं.

Hai mera naman unko ki jo yashkaay ko amaratv dekar,
Jo is jagat me shaurya ki jivit kahani ho gaye hain,
Hai mera naman unko jinke saamne bauna himalaya,
Jo jameen par gir pade par aasaamani ho gaye hain…

कागज़ इतिहास के
मेरे देश के सीने में शमशीर हो गएँ,
जो लड़े और जो मरे वो शहीद हो गएँ,
जो डरे और जो झुके वो वजीर हो गएँ.

Kaagaz itihaas ke
Mere desh ke seene me shamsheer ho gaye,
Jo lade aur jo mare vo shaheed ho gaye,
Jo dare aur jo jhuke vo vazeer ho gaye….

चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे इस जश्न में हैं,
इन्कलाब की अग्नि लिपटी मेरे बदन में हैं,
मर जाना जहाँ जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैं,
कुर्बानी का जुनू जिन्दा मेरे कफन में हैं.

Chingaari azaadi ki sulgi mere is jashn me hai,
Inkalab ki agni lipti mere badan me hai,
Mar jana jaha jannat ho ye baat mere vatan me hai,
Kurbani ka junoon jinda mere kafan me hai…

अगर मिटटी के पुतले देह में ईमान जिन्दा हैं,
तभी इस वतन की समृद्धि का अरमान जिन्दा हैं,
ना भाषण से है वास्ते ना वादों पर भरोसा हैं,
शहीदों की क़ुरबानी से मेरा हिन्दुस्तान जिन्दा है.

Agar mitti ke putle deh me imaan zinda hai,
Tabhi is vatan ki samridhi ka armaan zinda hai,
Na bhashan se hai vaasta na vaado par bharosa hai,
Shaheedo ki kurbaani se mera hindustan zinda hai…

संक्षेप में

दोस्तो आपको यह पोस्ट तन शायरी इन हिंदी कैसी लगी? हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपके लिए देश भक्ति शायरी इन हिंदी 2019 और प्यारा वतन शायरी की कलेक्शन तैयार की है जो आपके देश भक्ति देकर अंदर के जज्बातों को शब्दों के रूप में डाल कर आपके दोस्तों और रिश्तेदारों को यह बता सकता है क्या आप के दिन के अंदर भी कितनी देशभक्ति और तकदीर से कितना प्रेम करते हैं.

हर इंसान तो जाकर सरहद पर लड़ाई नहीं कर सकता लेकिन देश के अंदर रहकर देश की तरक्की में हिस्सा लेकर देश को आगे बढ़ा सकता है और इस तरह से यह भी एक देश भक्ति का ही काम है. आप जब किसी भी रूप में अपने देश के प्रति किसी भी तरह की भलाई करते हैं तो हर तरफ यह देश भक्ति ही कही जाएगी. आपको इस पोस्ट पर हमने हिंदुस्तानी शायरी हिंदी  के साथ हिंदी देशभक्ति स्लोगन की कलेक्शन पर प्रस्तुत की है और उम्मीद करते हैं कि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी. अगर यह पोस्ट आपको सच में अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, और व्हाट्सएप में अधिक से अधिक शेयर करें.

Leave a Comment