आयुष्मान कार्ड: कार्ड बनवाने की पूरी प्रक्रिया, क्या है आयुष्मान कार्ड

आयुष्मान भारत योजना देश के गरीब तबके से आने वाले नागरिकों के लिए मोदी सरकार की एक बेहतरीन योजना मानी जा रही है. जिसके तहत गरीबों को किसी भी अस्पताल में 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलता है।

लेकिन जानकारी के अभाव में कई लोग ऐसे हैं जो इस योजना का लाभ नहीं उठा पाते हैं और गंभीर बीमारियों के कारण अपनी जान गंवा देते हैं और सुविधा का लाभ नहीं उठा पाते हैं। दरअसल आयुष्मान भारत योजना के तहत सरकार द्वारा पात्र नागरिकों को आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जाता है,

जिसमें कार्डधारक का पूरा विवरण मौजूद होता है, जिसके आधार पर वह स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ उठाता है. लेकिन, जिन पात्र लोगों के पास अभी तक यह कार्ड नहीं है, 

वे आयुष्मान कार्ड बनवाकर इसका लाभ उठा सकते हैं। आयुष्मान कार्ड बनाने का तरीका क्या है, आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है, आयुष्मान कार्ड बनाने की पूरी प्रक्रिया और लाभ क्या हैं, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से सारी जानकारी देंगे। 

आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए जरूरी दस्तावेज? आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज मुख्य रूप से आपका आधार कार्ड, राशन कार्ड है और परिवार के पहचान पत्र की एक प्रति लोक सेवा केंद्र पर देनी होगी। जिसके आधार पर जन सेवा केंद्र अधिकारी आयुष्मान कार्ड के लिए आवेदन करेगा और 10 से 15 दिन बाद आपको आयुष्मान भारत योजना का गोल्डन कार्ड मिल जाएगा 

आयुष्मान भारत योजना दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है। इसके तहत आयुष्मान कार्ड धारक को ₹500000 तक का मुफ्त इलाज मिलता है।