Bhartiya  Shiksha  Board:  सरकार  ने  रामदेव को सौंपी नए बोर्ड की कमान

केंद्र सरकार ने आजादी के 75 साल पूरे होने पर भारतीय शिक्षा बोर्ड (Bhartiya Shiksha Board) का गठन करके उसके संचालन का जिम्मा बाबा रामदेव के पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट को सौंपा है.

बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने यह जिम्मेदारी दिए जाने पर पीएम नरेंद्र मोदी का आभार जताया है. स्वामी रामदेव ने कहा कि जब पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है. 

बता दें कि कि शिक्षा का 'स्वदेशीकरण' करने के लिए सीबीएसई की तर्ज पर एक राष्ट्रीय स्कूल बोर्ड स्थापित करने का विचार सबसे पहले स्वामी रामदेव (Baba Ramdev) ने ही सामने रखा था. 

 वर्ष 2015 में उन्होंने अपने हरिद्वार स्थित वैदिक शिक्षा अनुसंधान संस्थान (VRI) के जरिए एक नया स्कूली शिक्षा बोर्ड शुरू करने का विचार प्रस्तुत किया. 

1 फरवरी 2020 को केंद्रीय बजट की घोषणा की गई और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार 2022 तक किसान (Farmer) की आय को दोगुना करने का प्रयास करेगी 

और कृषि क्षेत्र के विकास पर ध्यान केंद्रित करेगी। इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने इस योजना (PM Free Solar Pump Yojana) का लाभ 20 लाख किसानों को देने का निर्णय लिया है,

इतना ही नहीं किसानो की आय बढ़ाने और समर्थन देने के लिए वित्त मंत्री द्वारा कई अन्य प्रस्तावों की घोषणा की गयी है।