इस राज्य में  घोषणा मुफ्त  मिलेगा शादी में 100 किलो चावल 10 किलो दाल, 

आदिवासियों को राहत देने के लिए नई योजना का ऐलान किया गया है. 

जनजातीय समुदाय के परिवारों को शादी और श्राद्धकर्म में 100 किलो चावल और 10 किलोग्राम दाल मुफ्त में मिलेगी.

ताकि सामूहिक भोज के लिए आदिवासियों को कर्ज न लेना पड़े. इसके अलावा महाजनों और साहूकारों से लिया गया कर्ज भी वापस नहीं करना होगा. झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने ये बड़ी घोषणाएं की हैं. 

बैंक दें युवाओं को कर्ज झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मंगलवार को बैंकों से कर्ज के बंटवारे में युवाओं की अनदेखी पर भी चिंता जताई है. 

उन्होंने कहा कि सुस्त बैंकिंग कार्यप्रणाली के कारण आज युवा कर्ज के अभाव में हुनमंद होने के बावजूद मजदूरी करने को विवश हैं. 

हेमंत सोरेन को भी लोन नहीं देंगे बैंक मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने मंगलवार को यहां झारखंड जनजातीय महोत्सव के उद्घाटन के अवसर पर कहा, ‘‘मैं अपने समाज को जानता हूं, 

अपने राज्य के लोगों को समझता हूं. मुझे पता है कि बैंक से लोन लेना मेरे युवा साथियों के लिए कितना कठिनाई पूर्ण रहता है.देश में बैंकों की स्थिति तो यह है कि हेमन्त सोरेन भी अगर लोन लेने जाए तो उसे पहली दफा में नकार देंगे. हमारे युवा हुनरमंद होते हुए भी मजदूरी करने को विवश हैं.’’