शायद नहीं जानते होंगे  क्या आपको पता है पैन कार्ड के 10 नंबर का मतलब? 

पैन कार्ड यानी पर्मानेंट अकाउंट नंबर अब अहम दस्तावेजों में से एक हो गया है। इनकम टैक्स भरने के साथ बैंक खातों से जुड़े कामों में इसकी जरूरत पड़ती है। 

साथ ही ये आपके फाइनांशियल लेनदेन के मामले में काम आता है। आपको बता दें कि पैन कार्ड 10 अल्फान्यूमैरिक नंबर होता है। 

इसे डिपार्टमेंट ऑफ इनकम टैक्स आवंटित करता है। क्या आपने कभी सोचा है कि इन अल्फान्यूमैरिक नंबर का मतलब क्या होता है? 

क्यों इन्हें अल्फान्यूमैरिक तरीके से ही लिखा जाता है। अगर आपको ये पता नहीं है तो हम इसकी सारी जानकारी देते हैं। 

पैन कार्ड के नंबरों का मतलब आपको बता दें कि पैन कार्ड में अल्फान्यूमैरिक 10 अंक होते हैं। उसे IT डिपार्टमेंट, UTI या NSDL के जरिये जारी करता है। ये किसी मोबाइल नंबर की तरह रेंडम नहीं होता है। 

बल्कि इसके हर एक अल्फाबेट या न्यूमेरिक के पीछे एक इंफॉर्मेशन छुपा होता है। पैन कार्ड के 10 डिजिट में पहले 5 डिजिट अल्फाबेट होते हैं। इनके पीछे 4 न्यूमैरिक होते हैं और अंत में फिर एक अल्फाबेट होता है।

शुरुआत के 5 कैरेक्टर्स का मतलब पैन कार्ड में शुरुआत के 5 कैरेक्टर्स में से पहले तीन कैरेक्टर्स आयकर की अल्फाबेट सीरीज को दर्शाते हैं जो कि AAA से लेकर ZZZ तक के बीच की सीरीज में आते हैं। चौथा कैरेक्टर ये दिखाता है कि आयकर विभाग की नजर में आप क्या हैं।