Uttarakhand:  ऐसे हुआ खुलासा  आयुष्मान योजना को लेकर प्राइवेट अस्पताल 

उत्तराखंड में संचालित आयुष्मान योजना के अंतर्गत अब नियम के मुताबिक मरीजों को निजी अस्पतालों के लिए  रेफर किया जाएगा. दरअसल, 

हाल ही में आयुष्मान योजना के अंतर्गत रेफरल व्यवस्था को लेकर एक ऑडिट करवाया गया था. ऑडिट के बाद जो खुलासा हुआ वो चौंकाने वाला था. 

इसमें 305 मामलों की जांच कराई गई तो ऑडिट में यह पता चला कि 75 मामलों में रेफरल अप्रूवल नियम के मुताबित ही नहीं किया गया है. 

प्राइवेट अस्पताल में रेफर करने के लिए बनाए गए हैं नियम आपको बता दें कि इस मामले को राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण ने बेहद गंभीरता से लिया है. अब इस मामले में शासन को कार्रवाई के लिए रिपोर्ट भेजी जा रही है. 

 दरअसल, आयुष्मान योजना के अंतर्गत किसी प्राइवेट अस्पताल में रेफर करने के लिए बकायदा नियम बनाए गए हैं. इन्हीं नियमों का पालन करने के बाद ही, किसी जरूरतमंद को प्राइवेट अस्पतालों में रेफर किया जा सकता है. वह भी तब जब सरकारी अस्पताल या मेडिकल कॉलेजों में लाभार्थी की बीमारी के हिसाब से स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध न हो पा रही हो.

वाल ये है कि आखिर कैसे नियमों को ताक पर रखकर इन 74 मामलों में रेफरल अप्रूवल दे दिया गया. इसी के चलते हो सकता है कि आने वाले दिनों में नियमों में कुछ चेंजेस किए जा सकते हैं. लिहाजा अब सरकारी अस्पतालों से मरीजों को आसानी से निजी अस्पतालों के लिए रेफर नहीं करवाया जा सकेगा.